Home Astrologer Consultant ज्योतिषीय उपाय और समस्याओं का समाधान (Astrological Remedies for Life Problems)

ज्योतिषीय उपाय और समस्याओं का समाधान (Astrological Remedies for Life Problems)

आम इंसान की समस्‍याओं और चिंताओं की नब्‍ज पकड़कर बाजार में बैठे फर्जी बाबा और ढोंगी लोग ज्‍योतिष के नाम पर ठगी के लिए इस प्रकार के दावे करते हैं। ज्‍योतिष विषय अपने स्‍तर पर ऐसा कोई दावा नहीं करता।

SHARE
ज्योतिषीय उपाय और समस्याओं का समाधान (Astrological Remedies for Life Problems)
ज्योतिषीय उपाय और समस्याओं का समाधान (Astrological Remedies for Life Problems)

ज्योतिषीय उपाय और समस्याओं का समाधान
Astrological Remedies for Life Problems


आपने इस प्रकार के विज्ञापन बहुत स्‍थानों पर देखें होंगे

  • आपकी समस्‍या का सौ प्रतिशत समाधान
  • किया कराया, लगा लगाया छुड़ाने के लिए
  • जीवन की सभी समस्‍याओं का समाधान
  • प्रेत बाधा दूर कराएं
  • बिछड़ा प्रेमी मिलाएं
  • मु‍कदमे में जीत के लिए उपाय
  • धन की समस्‍या का स्‍थाई समाधान
  • बीमारी का शर्तिया इलाज
  • पैतृक संपत्ति दिलाने की गारंटी
  • नौकरी में तरक्‍की पाएं
  • पितृ बाधा निवारण
  • कालसर्प शांति उपाय
  • नगों से प्राप्‍त करें शांति
  • चमत्‍कारी रुद्राक्ष
  • गृह क्‍लेश का स्‍थाई समाधान
  • पति पत्‍नी में झगड़े का अंत
  • ग्रह बाधा दूर करने के उपाय

इस प्रकार के दावे ज्‍योतिष के किसी भी शास्‍त्र में नहीं है। ज्‍योतिष के किसी भी शास्‍त्र यानी क्‍लासिकल टैक्‍सट में इस प्रकार के उपाय नहीं दिए गए हैं। आम इंसान की समस्‍याओं और चिंताओं की नब्‍ज पकड़कर बाजार में बैठे फर्जी बाबा और ढोंगी लोग ज्‍योतिष के नाम पर ठगी के लिए इस प्रकार के दावे करते हैं। ज्‍योतिष विषय अपने स्‍तर पर ऐसा कोई दावा नहीं करता।


ज्‍योतिषी क्‍या करता है?
What an Astrologer can do?

ज्‍योतिषी आपकी कुण्‍डली देखकर भविष्‍य का आकलन करता है और सर्वाधिक सटीक संभावनाओं की आपको जानकारी देता है। इनमें से कोई भी जानकारी सांसारिक सीमा से परे यानी Out of the world नहीं होती। ऐसा नहीं है कि ज्‍योतिषी संकेतों को नहीं पकड़ सकता। वास्‍तव में ज्‍योतिषी का काम ही यही है कि जो भविष्‍य आपको स्‍पष्‍ट दिखलाई नहीं दे रहा है, उस भविष्‍य के प्रति आपको सचेत करे। यह निकट भविष्‍य की उज्‍ज्‍वल संभावनाओं के संकेत भी हो सकते हैं और आने वाले कठिन समय की आशंका भी। दोनों ही मामलों में ज्‍योतिषी की यह सहायता जातक के लिए महत्‍वपूर्ण साबित होती है।


ज्‍योतिषीय उपाय क्‍या हैं?
What are Astrological Remedies?

ज्‍योतिष के कोण से देखा जाए तो हर जातक की अपनी एक नैसर्गिक लय होती है, जब तक जातक अपनी नैसर्गिक लय में रहता है, भाग्‍यशाली होता है, जब यह लय बिगड़ जाती है तो यह दुर्भाग्‍य का संकेत होता है। कुण्‍डली फलादेश में अनुकूलता और प्रतिकूलताओं के प्रति संकेत करने के बाद ज्‍योतिषी जातक को प्रतिकूल स्थितियों को कम करने या समाप्‍त करने के लिए उपाय बताता है। यह उपाय साधारणत: उसी जातक की कुण्‍डली के लिए सर्वाधिक अनुकूल उपाय होते हैं। हर लग्‍न के कुछ कारक ग्रह होते हैं, हर योग के अपने अनुकूल और प्रतिकूल परिणाम होते हैं, इनके निवारण के लिए शास्‍त्रों में कई उपाय बताए गए हैं जो समय के साथ परिणाम देने में सक्षम सिद्ध हुए हैं। इन्‍हीं उपायों की मदद से उपाय करते हुए जातक अपनी लय को फिर से प्राप्‍त कर लेता है।

कई बार जातक के लिए कुण्‍डली दिखाते हुए उनके रिश्‍तेदारों का आग्रह होता है कि क्‍या वे जातक के लिए उपाय कर सकते हैं अथवा किसी अन्‍य पंडित से उपाय करवाए जा सकते हैं, इस बारे में मेरा स्‍पष्‍ट मत है कि कुछ बड़ी साधनाओं को छोड़ दें तो कोई भी ज्‍योतिषीय  उपाय ऐसा नहीं है जो जातक के अलावा कोई और करे और जातक को उसका लाभ मिल जाए। कई बार जातक आईसीयू में हो अथवा बहुत कठिन स्थिति में घिरा हो तो उसका हाथ लगाकर अथवा जातक के पास कुछ विशिष्‍ट वस्‍तुएं रखकर उपचार की शुरूआत की जा सकती है, लेकिन दान, साधना और दर्शन जैसे उपचार तो खुद जातक करेगा तो ही उसे लाभ होगा। यह कुछ कुछ ऐसा ही है कि जो भोजन करेगा उसे ही पोषण मिलेगा। एक व्‍यक्ति के खाने से दूसरे व्‍यक्ति को पोषण नहीं मिल सकता।

बड़ी साधनाओं और यज्ञ आदि में जातक खुद सक्रिय रूप से मौजूद होता है और पंडित जातक से संकल्‍प करवाकर साधना अथवा यज्ञ आदि संपन्‍न करता है। ऐसे में जातक को फल मिलने की संभावना बढ़ जाती है। आजकल कई बार यह भी देखने में आता है कि जातक किसी और शहर में बैठा होता है और सो कॉल्‍ड पंडित कह देता है कि मैं यहीं बैठकर उपचार कर दूंगा आप तो दक्षिणा जमा करवा दो… मेरे अनुभव में इस प्रकार के सभी उपचार निष्‍प्रभावी सिद्ध हुए हैं और ठगी से अधिक कुछ नहीं।


ज्योतिष द्वारा इच्छित परिणाम प्राप्‍त करना
(Achieving Desired Results by Astrology)

एक महिला का प्रश्‍न : मैं अमुक व्‍यक्ति से प्रेम करती हूं, मेरा परिवार सुखी है और उसका भी सुखी परिवार है, हम दोनों कुछ समय पहले तक बात करते थे, लेकिन अचानक उसने बात करना बंद कर दिया है, किस प्रकार हम दोनों फिर से साथ हो सकते हैं?

यहां स्थिति यह है कि दोनों को विवाह नहीं करना है, प्रेम संबंध बनाए रखना है और अपने परिवार के साथ भी सुखपूर्वक रहना है। इस महिला ने कई ठगों से संपर्क किया, उन्‍होंने दस, बीस या पचास हजार रुपए लेकर महिला को विश्‍वास दिलाया कि एक सप्‍ताह, दस दिन, एक महीना और कुछ ने तो चार दिन में बात कराने दावे किए और पैसा लेकर “पूजन” कर दिया, महिला को कोई परिणाम नहीं मिला। मुझसे भी ठीक यही सवाल किया, मैंने बताया कि ज्‍योतिषीय कोण से यह बताया जा सकता है कि…

  • आपकी कुण्‍डली में विवाहेत्‍तर प्रेम संबंध है या नहीं।
  • आपकी कुण्‍डली में प्रेम संबंध है या नहीं।
  • आपकी दशा अनुकूल चल रही है या नहीं।
  • आपके प्रेमी की कुण्‍डली में प्रेम संबंध का योग है या नहीं।
  • आपकी प्रेमी की कैसी दशा चल रही है।
  • आप दोनों का मेलापक क्‍या कहता है।

यह सभी बातें ज्‍योतिष के क्‍लासिकल टैक्‍सट के अनुसार हैं, लेकिन अगर आप यह चाहें कि मैं किसी विधि से आपकी आपके प्रेमी अथवा पूर्वप्रेमी से बात करवा दूं, तो यह ज्‍योतिष के क्षेत्र से बाहर की बात है। इच्‍छाओं को पूरा करने का दावा कुछ तांत्रिक करते हैं। जो गंभीर तांत्रिक हैं, वे कभी ऐसे प्रकरणों में हाथ नहीं डालेंगे, वे गंभीर साधना करते हैं और गंभीर प्रयासों में हाथ डालते हैं, अधिकांशत: सात्विक और अनुकूल परिणाम देने वाले प्रकरणों में वे अपनी शक्ति झोंकते हैं। एक सामान्‍य से तांत्रिक प्रयोग के लिए भी तांत्रिक को अपनी अच्‍छी खासी शक्ति का इस्‍तेमाल करना पड़ता है। जो तांत्रिक केवल फूंक मारने अथवा बाजार में बैठकर मोरपंख हिलाने का काम करते हैं, वे अधिकांशत: ठग हैं, साधक नहीं। ऐसे ठगों से दूर रहने का प्रयास करना चाहिए।