Home Jain Astrology (जैन ज्योतिष) शनि महादशा के उपाय के लिए जैन मंत्र (Jain Mantra for Saturn...

शनि महादशा के उपाय के लिए जैन मंत्र (Jain Mantra for Saturn Mahadasha Remedy)

SHARE
शनि की महादशा के उपाय के लिए जैन मंत्र | Shani Mahadasha (Saturn Mahadasha) Remedy in Jain Mantra (Jain Astrology)
शनि की महादशा के उपाय के लिए जैन मंत्र | Shani Mahadasha (Saturn Mahadasha) Remedy in Jain Mantra (Jain Astrology)

शनि महादशा के उपाय के लिए जैन मंत्र
(
Jain Mantra for Saturn Mahadasha Remedy)

शनि न्‍याय का देवता है, शनि की महादशा वृषभ, तुला, मकर और कुंभ राशि के लिए निश्चित रूप से फलदायी सिद्ध होती है। अन्‍य लग्‍नों में फल अनुकूल अथवा प्रतिकूल हो सकते हैं। अगर कुण्‍डली में शनि अपने परम शत्रु सूर्य, मंगल अथवा केतु से पीडि़त हो तो किसी भी लग्‍न में श्रेष्‍ठ फल देने वाला सिद्ध नहीं होता है। शनि भगवान सूर्य के पुत्र हैं और इनकी शांति के लिए शनि मंदिर में विग्रह पर तिल का तेल चढ़ाना लाभप्रद बताया गया है, इसके अलावा लोहे का दान और तिल का दान भी श्रेष्‍ठ बताया गया है। शनि की महादशा 19 साल की होती है। अगर शनि खराब हो तो पूरे 19 साल के दौरान अधिकांशत: खराब परिणाम ही दिखाई देते हैं।

कई बार बहुत ही सावधानी से नीलम पहनने की सलाह भी दी जाती है, लेकिन नीलम रत्‍न बहुत ही कठोर परिणाम देने वाला होता है। अगर जातक के अनुकूल न हो तो राजा को भी रंक बनाने की क्षमता रखता है। ऐसे में असावधानीवश नीलम का प्रयोग नहीं करने की सलाह दी जाती है। बहुत से लोगों के लिए उपरोक्‍त उपचार करना संभव नहीं होता, उनके लिए शनि मंत्र श्रेष्‍ठ परिणाम देने वाला सिद्ध हो सकता है। शनि मंत्र की दस माला का जाप नियमित रूप से दशा पर्यंत किया जाना चाहिए। यह मंत्र इस प्रकार है…

ऊं ह्रीं णमो लोए सव्‍वसाहूणं”

इस मंत्र के साथ शांति मंत्र का जाप करना भी जरूरी है। नीचे बताए गए मंत्र की एक माला का जाप नियमित रूप से किया जाना चाहिए।

ऊं ह्रीं मुनिसुव्रत प्रभो नमस्‍तुभ्‍यं मम शांति शांति”

मुनि सुव्रतनाथ प्रभु के अधिष्‍ठायक देव वरुण की पूर्व या उत्‍तर दिशा की ओर मुख करके आसमानी वस्‍त्र, आसमानी आसन, उड़द के लड्डू, चावल को आसमानी रंग में रंगकर उसके स्‍वस्तिक तथा तिल के तेल के दीपक के साथ पूजा करनी चाहिए।


अन्य ग्रहों की महादशा के दुष्प्रभाव से बचने के लिए जैन मंत्रो द्वारा उपाय जानने के लिए आप निम्न लेख पढ़ सकते हैं। प्रत्येक ग्रह के लिए पृथक लेख द्वारा मंत्रो के प्रयोग को समझाने का प्रयत्न किया है।

सूर्य की महादशा के उपाय के लिए जैन मंत्र
Sun Mahadasha Remedy in Jain Mantra
चन्द्रमा की महादशा के उपाय के लिए जैन मंत्र
(
Jain Mantra for Moon Mahadasha Remedy)
मंगल की महादशा के उपाय के लिए जैन मंत्र
(
Jain Mantra for Mars Mahadasha Remedy)
बुध की महादशा के उपाय के लिए जैन मंत्र
(
Jain Mantra for Mercury Mahadasha Remedy)
गुरु (बृहस्पति) की महादशा के उपाय के लिए जैन मंत्र
(
Jain Mantra for Jupiter Mahadasha Remedy)
शुक्र की महादशा के उपाय के लिए जैन मंत्र
(
Jain Mantra for Venus Mahadasha Remedy)
राहु की महादशा के उपाय के लिए जैन मंत्र
(
Jain Mantra for Rahu Mahadasha Remedy)
केतु की महादशा के उपाय के लिए जैन मंत्र
Jain Mantra for Ketu Mahadasha Remedy